बिहार में बाल हृदय योजना के तहत दिल में छेद से संबंधित 300 बच्चों की स्क्रीनिंग

पटना, 6 अगस्त (आईएएनएस)। बिहार में बाल हृदय योजना के तहत शुक्रवार को करीब 300 बच्चों की दिल में छेद से संबंधित स्क्रीनिंग की गई।

बिहार सरकार द्वारा दिल में छेद वाले बच्चों का मुफ्त में ऑपरेशन कराया जाता है। इसके लिए शुक्रवार को पटना के इंदिरा गांधी हृदय रोग संस्थान (आईजीआईएमएस) में राज्य के 20 जिलों के करीब 300 बच्चों की दिल में छेद से संबंधित स्क्रीनिंग की गई। इन जिलों में बेगूसराय, मुंगेर, सारण, समस्तीपुर शेखपुरा, शिवहर जिले भी शामिल हैं।

राज्य स्वास्थ्य समिति के कार्यपालक निदेशक संजय कुमार सिंह ने बताया कि बाल हृदय योजना जन्म से हृदय में छेद वाले बच्चों के लिए संजीवनी साबित हो रही है। उन्होंने दावा करते हुए कहा कि राज्य सरकार स्वास्थ्य सुविधओं के विस्तार के लिए प्रयासरत है और मासूम बच्चों को सरकार द्वारा यह सुविधा प्रदान कर इस समस्या से उबार रही है।

राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम के राज्य सलाहकार मोहम्मद इम्तियाजुद्दीन ने बताया कि शुक्रवार को बच्चों की स्क्रीनिंग प्रशंति फाउंडेशन के तहत आने वाले सत्य साई हार्ट अस्पताल, अहमदाबाद के चिकित्सकों द्वारा की गई, जबकि शनिवार को आईआईएमएस में भी बच्चों की स्क्रीनिंग की जाएगी।

उल्लेखनीय है कि बिहार सरकार ने सात निश्चय के तहत हृदय में छेद के साथ जन्मे बच्चों के निशुल्क उपचार की व्यवस्था के लिए बाल हृदय योजना पर पांच जनवरी को मंत्रिमंडल द्वारा स्वीकृति दी गई। एक अप्रैल से लागू इस योजना के लिए 13 फरवरी 2020 को बिहार सरकार ने प्रशांति मेडिकल सर्विसेज एंड रिसर्च फाउंडेशन के साथ एमओयू पर हस्ताक्षर किया था।

प्रशांति मेडिकल सर्विसेज एंड रिसर्च फाउंडेशन द्वारा बाल हृदय रोगियों की पहचानकर मुफ्त चिकित्सा सुविधा उपलब्ध कराई जाती है, जबकि बच्चों की शुरुआती स्क्रीनिंग से लेकर बच्चों को आने-जाने का खर्च बिहार सरकार वहन करती है।

0Shares

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *