शौर्य चक्र से सम्मानित वरुण सिंह के अगले 48 घंटे नाजुक

चेन्नई, 9 दिसम्बर (आईएएनएस)। तमिलनाडु के वेलिंगटन में डिफेंस सर्विसेज स्टाफ कॉलेज (डीएसएससी) में डायरेक्टिंग स्टाफ ग्रुप कैप्टन वरुण सिंह बुधवार को कुन्नूर के पास हुए दुर्भाग्यपूर्ण एमआई-17वी5 हेलीकॉप्टर दुर्घटना में जीवित बचे एकमात्र अधिकारी हैं। उन्हें तकरीबन 80-85 प्रतिशत तक झुलस गए हैं। वह अपने जीवन के लिए संघर्ष कर रहे हैं। यह जानकारी तमिलनाडु सरकार के एक वरिष्ठ अधिकारी ने दी।

शौर्य चक्र वीरता पुरस्कार प्राप्त करने वाले सिंह बुधवार की रात सर्वाइव करने में सफल रहे हैं और डीएसएससी में उनके ठीक होने की प्रार्थना है।

सिंह का इलाज कर रहे डॉक्टरों की टीम ने कोई आश्वासन नहीं दिया है और अगले 48 घंटे गंभीर हैं।

सिंह को हाल ही में विंग कमांडर से ग्रुप कैप्टन के रूप में पदोन्नत किया गया था और वह हाल ही में डीएसएससी में शामिल हुए थे।

दुर्घटना में दुर्घटनाग्रस्त हेलिकॉप्टर पर सवार चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ बिपिन रावत और उनकी पत्नी मधुलिका रावत और अन्य अधिकारियों सहित अन्य सभी 13 लोगों का निधन हो गया था।

कुन्नूर के सैन्य अस्पताल में डॉक्टरों द्वारा दी गई प्रक्रिया के अनुसार राज्य सरकार के डॉक्टर और पुलिस अधिकारियों की मौजूदगी में पोस्टमार्टम किया गया।

0Shares

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *